मंगलवार, 14 जुलाई 2009

अ.भा.यादव महासभा का पत्र "यादवों की आवाज़"

‘‘यादवों की आवाज‘‘ अखिल भारतवर्षीय यादव महासभा द्वारा प्रकाशित त्रैमासिक पत्र है। पिछले छः वर्षों से प्रकाशित इस पत्र के संपादक अखिल भारतवर्षीय यादव महासभा के उपाध्यक्ष एवं प्रसिद्ध इतिहासकार डा0 के0सी0 यादव हैं। मात्र 8 पृष्ठों में प्रकाशित इस पत्र में यादव समाज से जुड़े भिन्न-भिन्न राज्यों की खबरों के अलावा विभूतियों पर आलेख भी प्रकाशित किये जाते हैं। समाज में विभिन्न क्षेत्रों में यदुवंशी नाम कमा रहे हैं, उनकी भी चर्चा इस पत्र में की जाती है। मेरे सम्मुख जुलाई-सितम्बर 2009 का पत्र है। इसमें ‘‘चुनाव गये, अब क्या करें‘‘ में संपादक ने बखूबी यादवी नेतृत्व को आगाह करते हुए लिखा है कि- ‘‘क्या यादव नेतृत्व अब भी अपनी भूल को भूल मानकर अपने पुराने ध्येय को पाने के लिए आगे बढ़ेगा? केवल सामाजिक न्याय के जहाज के सहारे ही हम डूबने से बच सकते हैं। कोशिश करें।‘‘ सामाजिक न्याय आन्दोलन के पुरोधा स्व0 चन्द्रजीत यादव पर विशेष सामंग्री प्रकाशित है। नवनिर्वाचित यादव सांसदों की सूची भी पत्र में दर्शाई गई है। इसी अंक में ‘‘यदुकुल ब्लाग‘‘ पर चर्चा की गई है तो युवा प्रशासक-साहित्यकार कृष्ण कुमार यादव पर जारी पुस्तक ‘‘बढ़ते चरण शिखर की ओर‘‘ की भी चर्चा है। महासभा द्वारा रियायती मूल्यों पर उपलब्ध करायी जा रही पुस्तकों की सूची इसे आकर्षण का केन्द्र बिन्दु बनाती है। पुस्तकों में यादवों का इतिहास (डा0 राजबली पाण्डेय), जातीय उन्नति का मूलमन्त्र: श्रीकृष्ण धर्मतत्व (बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय), यादवों का भारतीय संस्कृति एवं इतिहास को योगदान (डा0 राजबली पाण्डेय), 1857 के महान सेनानी: राव तुलाराम (डा0 के0सी0 यादव), लालू प्रसाद यादव: बदलते भारत के अन्तर्विरोध (डा0 के0सी0 यादव) प्रमुख हैं। पत्र का मुख्य पृष्ठ ग्लेज्ड पेपर पर सुवासित है।
यादवों की आवाज (त्रै0)- डा0 के0सी0 यादव, श्रीकृष्ण भवन, सेक्टर-IV, वैशाली गाजियाबाद (उ0प्र0)

6 टिप्‍पणियां:

आकांक्षा~Akanksha ने कहा…

Patra ke vyapak prachar-prasar ki jarurat hai.

SR Bharti ने कहा…

Hamen bhi to padhne hetu bhejiye.

KK Yadav ने कहा…

संपादक ने बखूबी यादवी नेतृत्व को आगाह करते हुए लिखा है कि- ‘‘क्या यादव नेतृत्व अब भी अपनी भूल को भूल मानकर अपने पुराने ध्येय को पाने के लिए आगे बढ़ेगा? केवल सामाजिक न्याय के जहाज के सहारे ही हम डूबने से बच सकते हैं। कोशिश करें।‘‘...bat to gambhir kahi hai.

Hitendra ने कहा…

eas partika ka life time member banne ke liye kya kare. kise contact kare. pls give phone no or email id..as akanksha ji told it need national lavel advertisement.

Umesh Yadav ने कहा…

Hello,

I want to purchase all edition of "yadav ki awaaz" magazine. Today i got information about through yadukul blog.

Agar koi website nahi hai to please ek website jaroor banakar sara information, mein website par daal dunga free of cost, aur saath mein website ka promotion bhi kar dunga...

my contacat no. +91-9990150263

Best Regards.
Umesh Yadav
Email : uyadav77@gmail.com

r n yadav ने कहा…

yadavo ke agrariya netaon aur yadav biradari ko chahiye ki yadavo ke sath sath desh ko naye unchaiyo par pahunchaye