शनिवार, 6 अगस्त 2011

साहित्य के प्रति समर्पित : प्रो. उषा यादव

प्रो. उषा यादव का नाम हिंदी-साहित्य में किसी परिचय का मोहताज नहीं है. उन्होंने लगभग हर विधा में लिखा है और खूब लिखा है. उनके विस्तृत जीवन-परिचय और कृतित्व के लिए देखें-











(बड़े रूप में अच्छे से पढने के लिए फोटो पर चटका लगायें.)


7 टिप्‍पणियां:

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') ने कहा…

उषा जी सचमुच लाजवाब रचनाकार हैं। पिछले दो दशकों से देख रहा हूं उनकी सजग साहित्‍य साधना को।

------
कम्‍प्‍यूटर से तेज़...!
सुज्ञ कहे सुविचार के....

कविता रावत ने कहा…

Prof.Usha Yadav ji ka parichay prastuti ke liye bahut aabhar!

Ratnesh Kr. Maurya ने कहा…

उषा जी सचमुच लाजवाब रचनाकार हैं। ..Parichay ke liye abhar.

Ratnesh Kr. Maurya ने कहा…

उषा जी सचमुच लाजवाब रचनाकार हैं। ..Parichay ke liye abhar.

Akanksha~आकांक्षा ने कहा…

प्रो.उषा यादव जी के व्यक्तित्व-कृतित्व पर सुन्दर और सारगर्भित पोस्ट . पढ़कर काफी अच्छा लगा. बधाइयाँ.

Dr. Brajesh Swaroop ने कहा…

डा. उषा यादव जी के बारे में काफी महत्वपूर्ण जानकारी. आपकी शोधपरक क्षमता को नमन. यदुकुल ब्लॉग ने ने अल्प समय में ही काफी अच्छा काम किया है और नाम भी कमाया है. इससे जुड़े विद्वत-जनों की रचनाधर्मिता का कायल हूँ. शुभकामनाओं सहित.

मन-मयूर ने कहा…

उषा यादव जी के बारे में पढना अच्छा लगा. उनकी रचनाधर्मिता के विस्तृत आयामों को जानना सुखद लगा.