गुरुवार, 29 जनवरी 2009

नारी विमर्श को आगे बढाती "अनंता''

लखनऊ से प्रकाशित नारी सरोकारों को समर्पित मासिक पत्रिका ‘अनंता‘ का सम्पादन पूनम यादव बखूबी कर रही हैं। खूबसूरत आवरण पृष्ठ, ग्लेज्ड पेपर के साथ रूचिकर व भावात्मक विषयों पर प्रस्तुत रचनाएं अपनी छाप छोड़ती हैं। भारतीय सभ्यता-संस्कृति को अन्तर में प्रतिस्थापित करती हुई पत्रिका उन तमाम नारीवादी विमर्शों को आगे बढ़ाती है, जिससे आम जन प्रभावित होता है। फैशन, सौन्दर्य, केयर, संबंध, मेकअप, हेल्थ, पार्टी, रेसिपी, स्वास्थ्य, निवेश, बागवानी, वास्तु, स्किन केयर, आस्था, ज्योतिष, फिल्मी दुनिया के साथ-साथ इवेन्ट, खेल, किड्स कार्नर, मन्थन, हँसी-ठिठोली, कविता एवं कहानी का रोचक सम्मिश्रण पत्रिका को अलग स्थान देता है। इस पत्रिका को http://www.anantamagazine.com/ पर भी देखा जा सकता है !!
संपर्कः पूनम यादव, २०३-२०४, सरन चैंबर-IIदितीय तल, ५ पार्क रोड, लखनऊ (यू. पी.)

13 टिप्‍पणियां:

'Yuva' ने कहा…

...'Ananta' patrika ke bare men jankar khushi huyi.

Bhanwar Singh ने कहा…

भारतीय सभ्यता-संस्कृति को अन्तर में प्रतिस्थापित करती हुई पत्रिका उन तमाम नारीवादी विमर्शों को आगे बढ़ाती है, जिससे आम जन प्रभावित होता है....बेहद सुन्दर प्रयास.

Dr. Brajesh Swaroop ने कहा…

Nice magazine with nice review.

Rashmi Singh ने कहा…

जानकर ख़ुशी हुई की मुंबई और दिल्ली से परे भी इतनी खूबसूरत पत्रिका निकल रही है. पूनम यादव जी को बधाई.

बाजीगर ने कहा…

यदुकुल के बहाने हमें देश के कोने-कोने से प्रकाशित हो रही पत्रिकाओं के दर्शन हो रहे हैं. राम शिव मूर्ति यादव जी का इसके लिए आभार.

Ratnesh ने कहा…

अनंता पत्रिका मैंने पढ़ी है. वाकई रुचिकर पत्रिका है यह.

डाकिया बाबू ने कहा…

नारी पत्रिकाओं की सूची में एक और नाम...स्वागत है...!!

आकांक्षा~Akanksha ने कहा…

लखनऊ तहजीब का शहर रहा है. यहाँ से प्रकाशित कोई भी पत्रिका नए मानदंड स्थापित करती है. अनंता से भी यही आशा है.

KK Yadav ने कहा…

अनुपम ''अनंता'' ...शुभकामनायें !!!

KK Yadav ने कहा…

गाँधी जी की पुण्य-तिथि पर मेरी कविता "हे राम" का "शब्द सृजन की ओर" पर अवलोकन करें !आपके दो शब्द मुझे शक्ति देंगे !!!

'Yuva' ने कहा…

पुण्यतिथि पर गाँधी जी को श्रद्धांजलि. सारा राष्ट्र आपके दिखाए आदर्शों का कायल है.

रचना ने कहा…

poonam yaadav kae vishay mae puri jaankari
freelancetextiledesigner@gmail.com par bhej dae
rachna
moderator naari blog

amitabhpriyadarshi ने कहा…

Ananta ke liye sadhuwad . patrika naree vishyak ho ya prakriti par adharit, hai to sahitya seva hi.
jankar Achha laga. Dhanyawaad.